जेल में राम रहीम…जानिए कैसा है कैदी नंबर 1997 का हाल

जेल में राम रहीम…जानिए कैसा है कैदी नंबर 1997 का हाल

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को शुक्रवार की शाम पांच बजे रोहतक के सुनारिया पीटीसी गेस्ट हाउस में लाया गया. वहां उनके साथ एक महिला भी मौजूद थी. जिसे जेल अधिकारियों ने वापस भेज दिया. इसके कुछ देर बाद ही सरकारी डॉक्टर ने राम रहीम का मेडिकल परीक्षण किया. जेल में राम रहीम को 1997 कैदी नंबर दिया गया है.

डॉक्टर ने जेल अधिकारियों से कहा कि कुछ विसंगतियां हैं, इसलिये मेडिकल परीक्षण एक मेडिकल बोर्ड द्वारा कराया जाए. इसके बाद पीजीआई रोहतक ने जेल प्रशासन के आग्रह पर एक मेडिकल बोर्ड का गठन किया. जिसने राम रहीम का परीक्षण किया. मेडिकल जांच के दौरान उसे डायबिटीज होने की बात सामने आई

डीजी जेल केपी सिंह ने बताया कि मेडिकल टेस्ट हो जाने के बाद राम रहीम ने वहां मौजूद अधिकारियों से चाय मांगी. इसके बाद राम रहीम के लिए फीकी चाय का इंतजाम किया गया. तब वह सुनारिया गेस्ट हाउस में ही मौजूद था. डीजी का दावा है कि राम रहीम को चाय पिलाए जाने के बाद रोहतक जिला जेल की एक बैरक में शिफ्ट कर दिया गया.

केपी सिंह के मुताबिक राम रहीम जेल की बैरक में था. वह साथ में अपना कुछ खाना लेकर आया था. रात के करीब नौ बजे उसने वही खाना खाया. हालांकि जेल के अधिकारी ये ज़रूर बता रहे हैं कि डेरा प्रमुख ने रात में हल्का खाना खाया था. खाना खाने के बाद राम रहीम काफी बैचेन दिखाई दिया. उसके चेहरे का रंग उड़ा हुआ था.

डीजी ने बताया कि गुरमीत राम रहीम को बैरक पसंद नहीं था. जहां राम रहीम पूरी तरह जागता रहा. वह बार-बार जेल कर्मचारियों से सुविधाओं को लेकर बात करता रहा. उसने जेल में मिनरल वॉटर की बोतल की मांग भी की.

केपी सिंह की मानें तो सुबह जेल मैनुअल के मुताबिक उसे नाश्ता दिया गया. और शनिवार की दोपहर आम कैदियों को दिए जाने वाला खाना ही उसे परोसा गया. जिसमें दाल, रोटी, चावल और आलू की सब्जी शामिल थी. बताया जा रहा है कि राम रहीम ने वहां रोटी खाने से इनकार कर दिया.

बताते चलें कि जेल अधिकारियों पर आरोप लग रहा है कि जेल में गुरमीत राम रहीम को कई प्रकार की सुविधाएं दी गई हैं. उसे पीने के लिए मिनरल वाटर की बोतल दी गई हैं. साथ ही एक सहायक भी उसे उपलब्ध कराया गया है. यहां तक उसे जेल में एक एसी रूम में रखा गया है.

जबकि इस बात को खंडन करते हुए हरियाणा के मुख्य सचिव और डीजीपी ने साफ कहा कि ये सारे आरोप बेबुनियाद हैं. राम रहीम को एक आम कैदी की तरह बैरक में रखा गया है. न उसे कोई सहायक दिया गया और न ही बाहर से उसके लिए खाना मंगवाया गया. शनिवार को उसे जेल मैनुअल के अनुसार ही खाना दिया गया.

An ultimate guide on how to build a career in DigitalMarketing

14 thoughts on “जेल में राम रहीम…जानिए कैसा है कैदी नंबर 1997 का हाल

  1. Wonderful site you have here but I was curious about if you knew of any community forums that cover
    the same topics discussed here? I’d really like to be a part of community where I can get feed-back
    from other experienced people that share the same interest.
    If you have any recommendations, please let me know. Thanks a lot!

  2. Hello would you mind letting me know which web host you’re
    utilizing? I’ve loaded your blog in 3 different internet browsers and I must say this
    blog loads a lot quicker then most. Can you recommend a good hosting provider at a honest price?
    Thanks a lot, I appreciate it!

  3. Greetings from Carolina! I’m bored to death at work so I decided to browse your
    blog on my iphone during lunch break. I really like the information you provide here and can’t
    wait to take a look when I get home. I’m surprised at how quick
    your blog loaded on my phone .. I’m not even using WIFI, just 3G ..

    Anyways, good site!

  4. Its like you read my mind! You appear to know a lot about this, like you wrote the book in it or something.
    I think that you could do with a few pics to drive the
    message home a little bit, but other than that,
    this is wonderful blog. A great read. I will
    definitely be back.

  5. Howdy would you mind stating which blog platform you’re using?
    I’m looking to start my own blog soon but I’m having a difficult time deciding between BlogEngine/Wordpress/B2evolution and Drupal.

    The reason I ask is because your design seems different then most blogs and I’m looking for something unique.
    P.S Apologies for being off-topic but I had to ask!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *