सीरियल बम धमाके करना चाहते थे आरोपी, बड़े नेता भी निशाने पर

सीरियल बम धमाके करना चाहते थे आरोपी, बड़े नेता भी निशाने पर

एनआईए के आईजी और प्रवक्ता आलोक मित्तल ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि पकड़े गए कथित आईएसआईएस मॉड्यूल के सदस्य कई जगहों पर सीरियल धमाके करने की साजिश रच रहे थे. साथ ही वे फिदायन हमले की तैयारी करना चाहते है. उन लोगों ने बम बनाने का काफी सामान जमा किया था. सभी आरोपी 20 से 30 साल की उम्र के हैं. एनआईए के मुताबिक मुफ्ती सोहेल को ही इस ग्रुप का सरगना माना जा रहा है.

 

मित्तल के मुताबिक, जिस मॉड्यूल का पर्दाफाश हुआ है वह आईएस से प्रेरित था. जो कई जगहों पर विस्फोट करने की योजना बना रहा था. अभी कुल 16 लोग हिरासत में लिए गए थे. जिनमें से 10 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. बाकी से पूछताछ की जा रही है. छापेमारी में बड़ी मात्रा में विस्फोटक, देसी लॉन्चर और हथियार बरामद हुए हैं. इसके अलावा 100 मोबाइल फोन, 135 सिम कार्ड और साढ़े सात लाख रुपये नकदी भी बरामदगी हुई है.

 

एजेंसी ने दिल्ली और यूपी में 17 ठिकानों पर छापेमारी की है. जिसमें पांच लोग दिल्ली से और पांच लोग यूपी से गिरफ्तार हुए हैं. एनआईए ने इस पूरी कार्रवाई को दिल्ली और यूपी पुलिस की मदद से अंजाम दिया है. एनआईए के प्रवक्ता मित्तल ने बताया कि आरोपी सीरियल धमाकों की तैयारी करना चाहते थे. उनके निशाने पर कुछ खास जगह, भीड़भाड़ वाले इलाकों के अलावा कुछ राजनीतिक शख्स और अन्य लोग भी थे.

 

मित्तल ने बताया कि ये लोग फिदायन हमले भी करना चाहते थे. ज्यादातर ये लोग रिमोट कंट्रोल से धमाके करने की तैयारी कर रहे थे. इन धमाकों को ये लोग जल्द ही अंजाम देना चाहते थे. एनआईए की मानें तो यह संगठन खुद ही पैसे का इंतजाम कर रहा था. इस गिरोह के एक सदस्य ने अपने घर से सोना चुराकर उसे बेचा और उससे सारा सामान खरीदा. हालांकि ये लोग विदेश में बैठे एक हेंडलर से संपर्क में थे. संपर्क के लिए सोशल मीडिया जैसे एप का इस्तेमाल करते थे.

 

इनके पास बैटरी, सल्फर, पोटेशियम नाइट्रेट, पाइप्स, 150 राउंड गोलियां, 8 पिस्टल, शुगर पेस्ट और बम बनाने का अन्य सामान बरामद हुआ है. जिन जगहों के नाम सामने आए हैं. उनको वैरीफाई किया जा रहा है. एक आरोपियों में नोएडा की एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी का छात्र भी शामिल है. यह मॉडयूल 3 से 4 माह पहले शुरू हुआ था. तभी एजेंसी को इसका इनपुट मिल गया था. हालांकि ऐसा लगता है कि इन लोगों ने लोकल लेवल पर ट्रेनिंग ली है.

 

आरोपियों में वैल्डर, ऑटोचालक, छात्र, इमाम आदि शामिल हैं. लखनऊ में भी एक संदिग्ध था. जिसके घर पर सर्च किया गया. इस दौरान आरोपियों में एक महिला का नाम भी आया है. जिससे पूछताछ की जा रही है. वह महिला एक आरोपी की पत्नी है. इस संबंध में मिली सारी जानकारी की पुष्टि की जा रही है. एनआईए के आईजी मित्तल ने मीडिया को कुछ तस्वीरें और एक वीडियो भी दिखाया, जिसमें एक शख्स बम बनाने का तरीका बता रहा है. एनआईए के मुताबिक वो आवाज़ सोहेल की है.