हवा में टूट गई कॉकपिट की खिड़की, बाहर लटक गया को-पायलट, देखें फिर क्या हुआ

हवा में टूट गई कॉकपिट की खिड़की, बाहर लटक गया को-पायलट, देखें फिर क्या हुआ

एक खबर सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है. चीन में शिचुआन एयलाइंस के विमान- 3यू8633 में अचानक कॉकपिट की खिड़की टूट गई. उस वक्त विमान करीब 32 हजार फीट ऊपर था. हवा इतनी तेज थी कि को-पायलट विमान से बाहर लटक गया. पैसेंजर्स का सामान तितर-बितर हो गया. विमान में अफरा-तफरी मच गई थी.

तभी पायलट लियू शुआनजियान ने अनाउंस किया- ‘घबराइए नहीं, हम स्थिति संभाल लेंगे.’ जिसके 20 मिनट बात लियू ने 32 हजार फीट की ऊंचाई से विमान की सफल लैंडिंग हुई. फ्लाइट में सवार सभी यात्री सुरक्षित हैं. यह विमान चोंगक्यूंग से ल्हासा जा रहा था.

बड़ा हादसा बचाने वाले पायलट लियू शुआनजियान की काफी तारीफ हो रही है. हादसे को बचाने के बाद लियू ने कहा- ‘इस रूट पर मैं 100 से ज्यादा बार उड़ान भर चुका हूं. मुझे उसका फायदा मिला.’ बता दें, फ्लाइट के अंदर का तापमान -40 पहुंच चुका था. जिसके बाद पायलट लियू ने ‘स्क्वैक वॉर्निग-7700′ जारी की.’ इसका मतलब है कि विमान को गंभीर खतरा है, एयर ट्रैफिक कंट्रोल को सूचना दी जाती है. उनके निर्देश को पालन करते हुए लैडिंग कराई जाती है. ट्रैफिक कंट्रोल से मदद लेकर उन्होंने सफल लैंडिंग कराई.

एक पैसेंजर ने बताया- ”जिस वक्त क्रू हमें नाश्ता दे रहा था उसी वक्त एयरक्राफ्ट हिलने लगा. हमें समझ नहीं आ रहा था कि आखिर हो क्या रहा है. अचानक ऑक्सीजन माक्स बाहर निकल आए थे. ऐसा लग रहा था कि हम काफी रफ्तार में नीचे की तरफ जा रहे हैं.लेकिन कुछ ही देर में सब समान्य हो गया.”

ऐसा ही हादसा 1990 में ब्रिटिश एयरवेज फ्लाइट में हुआ था. फ्लाइट 5390 में केबिन की खिड़की टूट गई थी. उस वक्त विमान 23 हजार फीट ऊपर था. एक पायलट बाहर आ गया था. बड़ी मुश्किल से हादसे को रोका गया था.

3 thoughts on “हवा में टूट गई कॉकपिट की खिड़की, बाहर लटक गया को-पायलट, देखें फिर क्या हुआ

  1. Woah! I’m really enjoying the template/theme of this blog. It’s simple, yet effective. A lot of times it’s very difficult to get that “perfect balance” between user friendliness and visual appearance. I must say that you’ve done a superb job with this. Additionally, the blog loads extremely quick for me on Firefox. Outstanding Blog!|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *